Sunday, 18 September 2016

घर में पड़ी ये चीजें आपको बना सकती हैं लखपति, ऐसे पहचानें

पुश्तैनी घरों और उनमें पड़े सामानों की लोग अक्सर अनदेखी करते हैं। कई बार उनको कबाड़ के भाव भी बेच दिया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि घरों में पड़े पुराने सामान भी आपको लखपति भी बना सकते हैं। हालांकि इसके लिए पारखी नजर होनी जरूरी है। ऐसे सामानों की असली कीमत तब मालूम चलती है, जब ये किसी एक्सपर्ट की नजर से गुजरते हैं। हम यहां ऐसी ही चीजों के बारे में बता रहे हैं, जो आपको घर बैठे रातोंरात अमीर बना सकते हैं...

पुरानी किताबें
 
पुराने घरों की सफाई के सबसे ज्यादा मुश्किल किताबों को लेकर होती है। लेकिन याद रखिए अगर कोई किताब खास है तो उसकी कीमत हर हाल में उसके प्रिंट पर छपी कीमत की कई गुना होगी। ऐसे में रद्दी वाले को कुछ रुपए किलो में पुरानी किताबें बेचने से पहले उलट-पलटकर जरूर देख लें।
 
किताबों में ये होनी चाहिए खासियत
 
-नवंबर 2014 में आई फोर्ब्स की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया की सबसे महंगी किताब की मौजूदा कीमत करीब 5 करोड़ डॉलर (335 करोड़ रुपए) है। वहीं टॉप 10 किताबों में सबसे सस्ती किताब 80 लाख डॉलर की है। यकीन मानिए इनमें से कुछ किताबें पुरानी अलमारी, पुराने घर की सफाई के दौरान मिलीं थी।
-ऐसी किताबों की ज्यादा कीमत मिलती हैं, जो रेयर हों यानी किताब की दूसरी कॉपी मार्केट में आसानी से उपलब्ध नहीं हैं।
-ऐसी किताब जिसे किसी भी तरह से खास साबित किया जा सके। एंटीक एक्सपर्ट के मुताबिक कलेक्टर कीमत चुकाने के लिए वजह की तलाश करते हैं। ये वजह कुछ भी हो सकती है, जिसमें किताब की उम्र, उस पर किसी के साइन, उनका टॉपिक, उनके प्रजेंटशन का ढंग।
-अगर किताब में किसी के हस्ताक्षर हों तो इससे कीमतें या तो काफी बढ़ती हैं या काफी घट जाती हैं। साइन करने वाला शख्स खास है या फिर आप उसे किसी खास कहानी से जोड़ सकते हैं तो किताब की कीमत कई गुना हो जाती है। 

पुराने जमाने के डिजाइन वाले आर्ट वर्क
 
घर की सफाई के दौरान कई बार ऐसे आइटम मिलते हैं, जिन्हें आपके बड़े बुजुर्गों ने अपने दौर में खरीदा था। इसमें आर्टफैक्ट से लेकर ब्रांडेड पेन, पुराने दौर की रोजमर्रा की जरूरत की चीजें शामिल हैं। एंटीक एक्सपर्ट के मुताबिक फैशन अपने आपको रिपीट करता है। ऐसे में समय-समय पर खरीददार ऐसे आर्ट वर्क की तलाश में रहते हैं। ओएलएक्स जैसी साइट्स पर ऐसे प्रोडक्ट लगातार बिक्री के लिए उपलब्ध रहते हैं, जिनकी आपको अच्छी कीमत मिल सकती है।
 
ये होनी चाहिए खूबियां
 
-ऐसे सामान जिनमें टूट फूट न हो।
-ऐसे सामान जिन्हें रिस्टोर न कराया गया हो, यानी वो ओरिजनल हों।
-अगर सामान के साथ कोई ब्रॉन्ड या नाम जुड़ा है तो कीमत कई गुना हो सकती है।
-अगर आप अपने एंटीक में किए गए आर्ट वर्क को क्लासिफाइड कर सकें जैसे किसी खास शैली, खास समय या किसी अंदाज या एक्सपेरीमेंट। इससे आपको अपने सामान को एंटीक में बदलने में मदद मिलेगी।
 
पुराने या खास नोट भी बना सकते हैं अमीर
 
घर के बुजुर्गों में पुराने नोट या गड्डियां संभालकर रखने की आदत होती है। कभी कभार यह नोट कुछ वजहों से खास बन जाते हैं। इसकी वजह खास नंबर होते हैं या उनमें सेलेब्रिटीज के बर्थ-डेट छिपी होती है। ऐसे नोट आपको रातोंरात अमीर बना सकते हैं।
 
इन खासियतों का रखें ध्यान
 
-नोटों के नंबर पर किसी सेलेब्रिटी की जन्मतिथि यानी बर्थ-डेट छिपी हो सकती है। ऐसे नोट ईबे सहित कई प्लेटफॉर्म पर हजारों में बिकते हैं।
-स्पेशल सीरीज वाले नोट बहुत कम लोगों के पास होते हैं। इनकी कीमत इस आधार पर तय होती है कि उस पर लिखा नंबर कितना खास है।
-पुराने नोट हमेशा से ही खास कैटेगरी में रहे हैं। एक वेबसाइट पर एक रुपए का नोट कुछ समय पहले नोट 7 लाख रुपए में बेचा गया था। यह आजादी से पहले का नोट था, जिस पर उस समय के गवर्नर जे डब्ल्यू केली के साइन थे। इस नोट को ब्रिटिश इंडिया की ओर से 1935 में जारी किया गया था।
-अगर कोई गवर्नर कम वक्त के लिए अपने पद पर रहा हो, तो उसके हस्ताक्षर वारे नोट की कीमत खुद ही बढ़ जाती है।
-स्टार नोट-ये ऐसे नोट होते हैं, जहां किसी नंबर की जगह गलती से स्टार छप जाता है। इसलिए ये खास हो जाते हैं। इनकी डिमांड खासी ज्यादा होती है और ऑक्शन के दौरान ही इनकी असली कीमत सामने आती है।
 
लाखों में बिकते हैं सिक्के
 
हो सकता है कि आपके पुश्तैनी घर में पुराने और यूनीक सिक्के रखे हों, जिनके लिए लोग लाखों-करोड़ों देने को तैयार रहते हैं। हालांकि ज्यादातर लोगों को इन पुराने सिक्कों की वैल्‍यू के बारे में पता नहीं होता और वह इसे कबाड़ समझकर हटा देते हैं। जबकि इन सिक्कों को ऑक्शन वेबसाइट या विदेशी क्वाइन मार्केट में बेचने पर लाखों रुपए मिल सकते हैं।
 
4 लाख रुपए में बिका 100 रुपए का पुराना सिक्का
 
भारत सरकार ने साल 1981 में 100, 150 रुपए के सिल्वर क्वाइन जारी किए थे। आरबीआई ने बाद में यह सिक्के बनाने बंद कर दिए। इन सिक्कों के लिए क्वाइन कलेक्टर 40,000 रुपए से 4 लाख रुपए तक देने के लिए तैयार हैं। क्वाइन कलेक्टर आलोक गोयल ने भारत सरकार का 100 रुपए का सिल्वर क्वाइन लगभग एक साल पहले 4 लाख रुपए में बेचा था।
 
अंग्रेजों के समय का क्वाइन बिका 6 लाख रुपए में
 
ब्रिटिश इंडिया का साल 1939 का सिक्का 6.50 लाख रुपए में बिका था। कोलकाता के एक परिवार के पास यह सिक्का था, जो उनके दादाजी ने लंदन से खरीदा था। ये सिक्का रेयर था और अब इस कैटेगरी के 10 से 12 क्वाइन ही बचे हैं। ये सिक्का अब भारत में देखने को नहीं मिलता। इस सिक्के को लंदन के क्वाइन मार्केट में 6.50 लाख रुपए में बेचा गया। कुछ साल पहले हांगकांग के क्वाइन मार्केट में इसी क्वाइन की बोली 8 लाख रुपए लगी थी।
 
कैसे और कहां बेच सकते हैं पुराने सिक्के
 
ईबे, मेल्कॉम टॉडीवाला जैसी कुछ कंपनियां पुराने सिक्कों का ऑक्शन करती हैं। यहां आप अपने पुराने सिक्के बेच सकते हैं। इसके अलावा लंदन, जर्मनी, हंगरी, फ्रांस जैसे देशों की क्वाइन मार्केट में पुराने सिक्के ऑनलाइन बेच सकते हैं। ऑनलाइन मार्केट के साथ-साथ हांगकांग, चीन में बीजिंग, गुआनझाओ की क्वाइन मार्केट में यह सिक्‍के बेचे जा सकते हैं। एजेंट के जरिए भी पुराने सिक्‍कों की बिक्री होती है। एजेंट के जरिए बेचने पर उन्‍हें कमीशन देना होता है।
 
 
 
इन्‍वेस्‍टमेंट का अच्छा जरिया     
 
पुराने सिक्‍के, नोट, एंटीक्स, किताब इन्‍वेस्‍टमेंट के अच्छे टूल हैं। इसमें बीते 12-14 सालों में अच्छी ग्रोथ हुई है। पुराने सिक्कों का ऑक्शन कराने वाली कंपनी मेल्कॉम टॉडीवाला के मुताबिक कुछ रेयर सिक्कों की तीन से चार साल में कीमत डबल हो जाती है। हालांकि, सभी सिक्कों पर ऐसा नहीं होता। ऑक्शन कंपनी मरुधर आर्टस के मुताबिक मुगल समय के जहांगीर के सिक्के 3 से 10 लाख रुपए में बिके।

No comments:

Post a Comment